❤️श्री ब्रजनाथ❤️

 
❤️श्री ब्रजनाथ❤️
This Stamp has been used 1 times
ओ जी हो साँवरिया थाँरी, दासी बण ज्यावाँ जी। दासी बणज्यावाँ थाँरे चरणाँ में रमजावाँ जी।। टेर ।। कहो तो साँवरिया थाँरा, कुण्डल बणज्यवाँजी। कुण्डल बणज्यावाँ थाँरे, काना में रमजावाँ जी।। 1 ।। कहो तो सांवरियाँ थाँरा, कंकण बणज्यावाँ जी। कंकण बणज्यावाँ थाँरे, हाथाँ में रमजावाँ जी।। 2 ।। कहो तो साँवरिया थाँरी, मुँदरी बणज्यावाँ जी। मुँदरी बणज्यावां थारी, अंगुली में रमजावाँ जी।। 3 ।। कहो तो साँवरिया थाँरी माला बण ज्यावाँ जी। माला बणज्यावाँ थारे, हिवड़े पर बसज्यावाँ जी।। 4 ।। कहो तो साँवरिया थाँरी, मुरली बणज्यावाँ जी। मुरली बणज्यावाँ थाँरे, अधराँ पर रह ज्यावाँ जी।। 5 ।। कहो तो साँवरिया थाँरी, पैंजणियाँ बणज्यावाँ जी। पैंजणियाँ बड़ज्यावाँ थांरे, चरना में रमजावाँ जी।। 6 ।। कहो तो साँवरिया थाँरी, कोयलियाँ बणज्यावाँ जी। कोयलियाँ बणज्यावाँ थांने,मीठा सबद सुणावां जी।। 7 ।। कहो तो साँवरिया थाँरी, मालिनियां बणज्यावां जी। मालिनियां बणज्यावाँ थंरा गजरा गूँथर ल्यावां जी।। 8 ।। कहो तो साँवरिया थांरी, गोपी बणज्यावां जी। गोपी बणज्यावां थारे, संग में रासा रचावां जी।। 9 ।। कहो तो सांवरिया थांरी, राधाजी बणज्यावां जी। राधाजी बणज्यावां थांरी, प्रेम धजा फहरावां जी।। 10 ।।
Tags:
 
shwetashweta
uploaded by: shwetashweta

Rate this picture:

  • Currently 5.0/5 Stars.
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5

5 Votes.